चाय वाले के बेटे ने किया कमाल.. बिना कोचिंग पास किया IIT एग्जाम! बनना चाहता है IAS

चाय बेचने वाले के बेटे ने पास किया IIT का एग्जाम

कहते हैं न जब आपमें जज्बा हो कुछ कर गुजरने का तो बड़ी से बड़ी परेशानी भी आपके सपने में बाधा नहीं बनती है. ऐसे ही एक बार फिर एक गरीब घर के लड़के ने कर दिखाया है. जी हां हाल ही में भोपाल में एक चाय (Tea Seller Son Passed IIT exam) बनाने वाले के बेटे ने आर्थिक तंगी के बावजूद आईआईटी की परीक्षा पास कर जलवा बिखेरा है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, अनमोल अहिरवार ने आईआईटी कंपीट करने के बाद आईआईटी कानपुर में एडमिशन लिया है। उनके मां-बाप चाय-नास्ते की गुमटी लगाते हैं। अनमोल अपने परिवार के साथ झुग्गी में रहता है।

माता-पिता बेचते हैं चाय

जी हां भोपाल के रहने वाले अनमोल अहिरवार ने राज्य के साथ ही देश भर में अपना जलवा बिखेरा है. अनमोल बेहद गरीब परिवार से ताल्लुक रखते हैं, लेकिन जुनके हौसले बेहद बुलंद हैं जिसकी वजह से उन्होंने आज सबसे बड़े इंस्टीट्यूट में एडमिशन पा लिया है. अनमोल भोपाल के एमपी नगर के नजदीक झुग्गी में रहते हैं। उनके पिता चाय (Tea Seller Son Passed IIT exam) बनाते हैं और मां पान की गुमटी लगाते हैं।

अनमोल के पिता चाय बनाते हैं और मां पान बेचती हैं। इस कमाई से ही उनका घर चलता है। हालांकि इस तंगी के बावजूद परिवार ने बेटे की यथाशक्ति मदद की। बेटे ने भी जीतोड़ मेहनत करके कठीन परीक्षा पास कर ली। अनमोल के माता पिता पढ़े लिखे नहीं हैं।

पढ़ाई के साथ-साथ काम भी करता था अनमोल

बताया जाता है कि,अनमोल दो कमरों की छोटी सी झुग्गी में रहकर अपने भाई के साथ पढ़ाई करता था। रोज 8 से 10 घंटे पढ़ाई करने के बाद वह अपने माता-पिता के कामों में हाथ बटाता था।

गरीबी को मात देकर दिखाया अपना जज्बा

अनमोल के परिवार में पैसों की तंगी से जूझता रहता था। क्योंकि महंगाई इस दौर में उसके परिवार की कमाई 5 से 6 हजार रुपए ही है। लेकिन इस कठिनाई को झेलते हुए उसने काफी लगन से पढ़ाई की। वह घर पर ही पढाई करता रहा और कहा जा रहा है कि, बिना कोचिंग के उसने यह कमाल कर दिखाया है.

पढ़ाई में शिक्षकों ने की खूब मदद

अनमोल के मां-बाप का कहा है कि वह बचपन से ही पढ़ने में तेज रहा है। उसे 10वीं में 87 प्रतिशत और 12वीं में 89.2 प्रतिशत नंबर आए। उसने भोपाल के शासकीय सुभाष एक्सीलेंस स्कूल से पढ़ाई की। अनमोल की प्रतिभा को देखकर स्कूल शिक्षकों ने भी उसकी मदद की। आईआईटी प्रवेश परीक्षा की तैयारी के लिए ऑनलाइन कोचिंग का इंतजाम करवाया।

आईएएस बनना चाहता है अनमोल

अनमोल ने कड़ी मेहनत से आईआईटी परीक्षा पास की। आईआईटी ग्रेजुएट होने के बाद उसा लक्ष्य आईएएस बनना है। उनका कहना है कि यह अपने पिता विजय अहिरवार और माता पार्वती अहिरवार के संधर्ष की वजह से हुआ है।

Related Posts

Leave a Comment