लंबे सिया’सी ब्रेक के बाद गुरु का ह’ल्ला बोल, किसान बिल के खिलाफ किया प्र’द’र्शन

गुरु ठो’को ताली.. जी हां यह लाइन सुनते ही आपके मन में एक व्यक्ति का नाम आ जाता होगा। सही समझे हम बात कर रहे हैं नवजोद सिंह सिद्धू (Siddhu came in support with farmers) की जो लंबे वक्त बाद एक बार फिर चर्चा में आ गए हैं. दरअसल इन दिनों देश भर में मोदी सरकार द्वारा लाये गए बिल को लेकर प्र’दर्श’न देखने को मिल रहा है. इसी बीच हाल ही में पंजाब के अमृतसर में कांग्रेस पार्टी की ओर से प्र’द’र्शन किया गया.

इस दौरान पूर्व क्रिकेटर और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू (Siddhu came in Support witth farmers) ने भी सड़कों पर उतरकर किसान बिल के वि’रोध में हुं’का’र भरी.

गौरतलब है कि, इस बिल के विरो’ध में देश के कई शहरों में किसान प्र’द’र्शन कर रहे हैं, तो वहीं पंजाब और हरियाणा में इस बिल के खिलाफ सबसे आ’क्रा’मक तौर पर प्र’द’र्शन किया जा रहा है. जहां सभी राजनीतिक दलों की ओर से एकजुटता दिखाई गई है. साथ ही अन्य किसान संगठन भी इस बिल के विरो’ध में सामने आए हैं.

नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot singh Siddhu is back) पिछले काफी लंबे वक्त के बाद किसी बड़े सार्वजनिक कार्यक्रम में नहीं दिखे हैं. उनका पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर के साथ रि’श्ता सही नहीं रहा है. यही वजह है कि पंजाब की पॉलिटिक्स में कम एक्टिव हैं. हालांकि, कोरोना सं’क’ट के दौरान भी वो लगातार सोशल मीडिया पर अपने वीडियो डाल मु’द्दों पर बात रखते रहे.

पंजाब में ग’र्म है किसान बिल का मसला

कृषि बिल के म’सले पर ही पंजाब के अकाली दल ने केंद्र सरकार के खिलाफ मो’र्चा खोला दिया है. साथ ही अकाली दल नेता हरसिमरत कौर बादल ने केंद्रीय मंत्री पद से इस्तीफा दिया और इस बिल को किसान विरो’धी करार दिया. सुखबीर बादल ने राष्ट्रपति से मुलाकात कर बिल पर हस्ताक्षर ना करने की अपील की.

Related Posts

Leave a Comment