ममता बनर्जी पर बरसे शुभेंदु, कहा- 2 मई दीदी गई..पत्रकार साथी जीत की मिठाई के लिए आमंत्रित हो

शुभेन्दु अधिकारी बोले- बंगाल में भाजपा आ रही

बंगाल में चुनाव की तारीखों के एलान के साथ ही सियासी पारा काफी बढ़ चुका है. भाजपा और टीएमसी के नेताओं के बीच जुबानी जंग तेज होती नजर आ रही है. वही जबसे ममता बनर्जी (Shuvendhu takes on Mamta) को चो’ट लगी है उसके बाद से तो बंगाल में और हल’चल तेज हो गई है. इधर नंदीग्राम सीट हॉट सीट बन चुकी है.

ममता बनर्जी और शुभेन्दु अधिकारी ने अपना डेरा जमा लिया है. ममता की पार्टी से निकले शुभेन्दु अब उन्ही को हराने की बात कह रहे हैं.

भाजपा का जीतना तय है, नंदीग्राम से ममता दीदी को हराऊंगा

चुनाव की तैयारी को लेकर शुवेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari) ने दावा किया है कि तृणमूल कांग्रेस (TMC) अब जनता की पार्टी नहीं रही. नामांकन करने से कुछ घंटे पहले अधिकारी ने विश्वास जताया कि पूर्वी मिदनापुर की सभी 16 सीटों पर भाजपा की जीत मिलेगी. इस दौरान उन्होंने कहा कि वह आज ही सभी पत्रकारों को 2 मई के दिन ‘जीत की मिठाई’ खाने के लिए आमंत्रित कर रहे हैं. बता दें कि, इससे पहले भी वह दावा कर चुके हैं कि, वह ममता बनर्जी को इस सीट से हरा देंगे।

अधिकरी ने पलटवार करते हुए कहा- बंगाल सरकार में ममता के मातहत रहे शुवेंदु ने दावा किया कि टीएमसी प्राइवेट कंपनी में बदल गई है. जहां सिर्फ ममता बनर्जी और उनके भतीजे अभिषेक ही आजादी के साथ बोल सकते हैं.

ममता पर कथित हम’ले को लेकर बोले शुवेन्दु

अधिकारी शुक्रवार सुबह स्थानीय मंदिरों में गये और अपना नामांकन दाखिल करने से पहले पूजा अर्चना की. अधिकारी ने कहा- ‘इस साल, कई टीएमसी नेताओं ने पार्टी छोड़ दी और भाजपा में शामिल हो गए. इसका कारण यह है कि तृणमूल कांग्रेस अब लोगों की पार्टी नहीं है.’ नंदीग्राम यात्रा के दौरान पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री पर कथित ह’मले के संदर्भ में, अधिकारी ने कहा, मुझसे अराजनीतिक प्रश्न न पूछें. यदि आप ऐसे प्रश्न पूछेंगे तो मैं जवाब नहीं दूंगा. मैं केवल राजनीतिक सवालों का जवाब दूंगा. मैं इस घट’ना के बारे में कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता.

अधिकारी ने ममता के भतीजे से अभिषेक से सवाल किया कि थाईलैंड में एक बैंक खाते में लाखों रुपये किसने जमा किए और कहां से इतनी बड़ी रकम आई? उन्होंने कहा, ‘ केवल भाजपा सरकार ही शारदा कंपनी द्वारा धोखा दिए गए लोगों का वापसी सुनिश्चित करेगी.’

अधिकारी ने सीएम बनर्जी पर आरोप लगाया कि वह पश्चिम बंगाल में ‘किसान-सम्मान निधि’ और आयुष्मान भारत जैसी योजनाओं को ‘लागू नहीं’ कर रही हैं. साल 2021 में राज्य में सरकार बनाने के बाद पहली कैबिनेट बैठक में उन्हें लागू करने कोशिश करेंगे.

Related Posts

Leave a Comment