टाइम पत्रिका में आने पर शाहीन बाग की दादी का बड़ा बयान, कहा- कहीं अधिक खुशी होती अगर..

shahen bagh wali dadi react on Times list

दुनिया की प्रतिष्ठित मैगजीन में से एक टाइम पत्रिका ने हाल ही में 100 प्रतिभाशाली लोगों की एक सूची जारी की थी. इस सूचि में प्रधानमंत्री मोदी के साथ ही शाहीन बाग़ (Shaeen Bagh Wali dadi) वाली दादी का नाम भी शामिल था. वहीं इस लिस्ट में आने के बाद उनकी तरफ से प्रतिक्रया भी आई है. उन्होंने एक इंटरव्यू के दौरान बातचीत में कहा कि, टाइम पत्रिका में 100 प्रभावशाली लोगों की सूची में शामिल किये जाने से वह खुश हैं, लेकिन यदि उनकी मांग मान ली जाती तो कहीं अधिक खुशी होती.

CAA के वि’रो’ध में पिछले साल दिसंबर की क’ड़ा’के की सर्दी के दौरान बिलकिस (82), उनकी सहेली आस्मा खातून (90) और सरवरी (75) हर दिन प्रदर्शन स्थल पर मौजूद रहीं थी. उनकी ति’क’ड़ी को सोशल मीडिया पर ‘शाहीन बाग की दादियां’ नाम दिया गया था.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, बिलकिस (Shaeen Bagh wali Dadi) के बेटे मंजूर अहमद ने कहा, ‘‘जब हमने उन्हें यह बताया कि उन्हें दुनिया की सबसे प्रभावशाली लोगों में एक घोषित किया गया है. उन्होंने बस यह कहा कि ‘‘ठीक है’.” अहमद ने बताया कि परिवार जितनी उनकी (बिलकिस की) प्रतिक्रिया उत्साहपूर्ण नहीं थी. बिलकिस ने कां’पती आवाज में कहा, ‘‘मैं ख़ुदा की शुक्रगुजार हूं. यदि हमारी मांग पूरी हो जाती तो मुझे कहीं अधिक खुशी होती… यदि सरकार ने हमारी सुनी होती और हम जो चाहते थे (सीएए को वापस लिया जाना) वह हमें दे दिया जाता.”

उन्होंने कहा, ‘‘यह दु’ख’द है कि हमें प्र’द’र्शन को महा’मा’री कोविड-19 के कारण स्थगित करना पड़ा. मैं वहां अं’त तक थी.” अहमद ने बताया कि उनकी मां पिछले साल दिसंबर में बी’मार पड़ गई थी लेकिन वह प्र’द’र्शन स्थल पर जाती रहीं. उन्होंने बताया, ‘‘इतनी ज्यादा सर्दी थी और उन्हें बुखार था, फिर भी वह अन्य महिलाओं का समर्थन करने वहां गई.”

Related Posts

Leave a Comment