संबित पात्रा का राहुल गांधी पर तंज, कहा- वो तो रबी और खरीफ को भी BJP कार्यकर्त्ता समझते हैं..

संबित पात्रा का राहुल गांधी पर तंज

किसान आंदोलन को लेकर आज देश के कई शहरों में लोग अनशन पर बैठे नजर आये. किसानों द्वारा एक दिन की भूख हड़’ताल का एलान किये जाने के बाद किसान दिल्ली बॉर्डर पर उपवास पर बैठे। वहीं दूसरी तरफ कई राजनीतिक पार्टियों के नेता भी उपवास पर बैठे। इसी बीच भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा (Sambit Patra Takes on Rahul gandhi) ने किसान आंदोलन में विपक्ष की सक्रियता को लेकर तंज कसा. उन्होंने केजरीवाल और राहुल गांधी पर ह’मला बोला है.

पात्रा ने इस दौरान राहुल गांधी पर तंज कस्ते हुए कहा कि, वह तो ऐसे नेता हैं जो रबी और खरीफ को भी भाजपा कार्यकर्त्ता समझते हैं.

कांग्रेस सबसे बड़ी पनौती है-संबित पात्रा

यही नहीं अपने सम्बोधन के दौरान संबित पात्रा (Sambit Patra Takes on Rahul Gandhi) ने कांग्रेस पर बड़ा हम’ला बोला। उन्होंने कहा कि, किसान के आंदोलन के बीच यह कांग्रेस वाले अपना टेंट लगाकर किसानों को बुला रहे हैं. लेकिन कोई उनके पास जा ही नहीं रहा है. क्योंकि वह लोग भी जानते हैं कि, कांग्रेस सबसे बड़ी पनौती है. पात्रा कहते हैं कि, यह पार्टी जिसके भी साथ जाती है उसको डूबा देती है.

इस दौरान पात्रा ने कर्नाटक के सीएम कुमारस्वामी का भी जिक्र किया जब उन्होंने कहा था कि, कांग्रेस का साथ लेकर उनका करियर खराब हो गया, उन्होंने अपन सब खो दिया।

किसान आंदोलन को लेकर विपक्ष पर साधा नि’शाना

किसान आंदोलन पर टिप्पणी करते हुए संबित पात्रा ने कहा कि हर कोई जानता है कि किसानों के आंदोलन को कौन हाइजैक कर रहा है. मीडिया सबकुछ दिखा रहा है और हमने कुछ लोगों द्वारा पीएम मोदी के खिलाफ अभ’द्र भाषा का इस्तेमाल करते हुए भी सुना था. संबित पात्रा ने गोवा जिला पंचायत के परिणामों का हवाला देते हुए कहा कि नए कृषि कानूनों का नोटिफिकेशन आने के बाद हुए सारे चुनाव बीजेपी जीत रही है, क्योंकि पीएम मोदी गरीबों और किसानों के असली हितैषी हैं. राहुल जी हर ट्वीट करते हैं, लेकिन फैक्ट यह है कि वो खेती और किसानी के बारे में कुछ नहीं जानते हैं.

कोई भी राजनीतिक दल किसान के लिए चिंतित नहीं है, सब अब अपने राजनीतिक एजेंडे के लिए लड़ रहे हैं. हम इसे दिल्ली में देख रहे हैं. जहां दिल्ली के सीएम केजरीवाल और कैप्टन अमरिंदर दोनों एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं. यह वही केजरीवाल हैं जिन्होंने दिल्ली में बिल को अधिसूचित किया और पंजाब में मंडियों से बिचौलियों को हटाने का वादा किया और अब वह दिल्ली में उपवास कर रहे हैं. जबकि नरेंद्र मोदी सुधार, प्रदर्शन और परिवर्तन के मंत्र पर काम कर रहे हैं.

Related Posts

Leave a Comment