यह जमीन और रोटी बचाने की लड़ाई है, देश में कुछ लु’टेरे आ गए हैं.. हमें उन सबको भागना है- टिकैत

टिकैत बोले देश में लुटेरे आ गए हैं

कृषि कानून के विरोध में किसानों का आंदोलन जारी है. वहीं राकेश टिकैत लगातार सरकार से कृषि कानूनों को वापस करने की मांग को लेकर हुंकार भरते दिख रहे हैं. उत्तर प्रदेश से लेकर पंजाब और हरियाणा से लेकर राजस्थान तक एक के बाद एक महापंचायतें हो रही हैं.

इस बीच अब टिकैत आज यूपी के करौली में महापंचायत को संबोधित करने पहुंचे। यहां पर उन्होंने पत्रकारों से बात करते हुए कहा- देश में कुछ लु’टेरे आ गए हैं. हमने उनको भगाना है.

टिकैत बोले देश में लु’टेरे आ गए हैं

दरअसल टिकैत ने एक बार फिर आवाज बुलंद करते हुए कहा कि, हमारा आंदोलन जारी रहेगा। वह कहते हैं यह आंदोलन कृषि कानूनों की वापसी की मांग को लेकर हो रहा है. जब तक कानून वापस नहीं लिए जाते हैं. तब तक आंदोलन जारी रहेगा।

यही नहीं टिकैत ने आगे कहा- यह लड़ाई जमीन बचाने की है, रोटी को तिजोरी में बंद करने की जो प्लानिंग हो रही है. उसे हम नहीं होने देंगे, देश में कुछ लुटेरे आ गए हैं उनको हमें भगाना है. यह पूछे जाने पर कि, आप लुटेरे किसे कह रहे हैं तो टिकैत कहते हैं- प्राइवेट कंपनियां हैं. जो किसानों को नुकसान पहुंचाने के लिए आगे आ रही हैं. लेकिन हम ऐसा नहीं होने देंगे। हम इनको भगाकर ही मानेंगे।

बयान सुनने के लिए लिंक पर क्लिक करें: https://twitter.com/news24tvchannel/status/1364810779745087488

किसान 40 लाख ट्रैक्टर लेकर पहुंचेगे संसद- टिकैत

इससे पहले राकेश टिकैत ने कहा था कि अब 40 लाख ट्रैक्टर दिल्ली जाएंगे। उन्होंने कहा कि सभी 40 लाख ट्रैक्टर 19 साल पुराने होंगे, क्योंकि केंद्र सरकार ने पुराने ट्रैक्टरों के इस्तेमाल पर रोक लगा रखी है। उन्होंने आरोप लगाया कि नये ट्रैक्टर खरीदने को किसान को मजबूर करने के लिए रोक लगाई गई है। अब किसान भाई खेती करने के बाद दिल्ली में संसद पहुंचेंगे।

उन्होंने कहा कि राजस्थान, हरियाणा और मध्य प्रदेश में जातिवाद समीकरण बहुत गहरे हैं, इसलिए राजनीतिक और जातिवाद की बात नहीं की जाए, सिर्फ किसान की बात हो। किसान की कोई जाति नहीं होती। उन्होंने किसानों से कहा कि आप आंदोलन को जिंदा रखिए।

Related Posts

Leave a Comment