कोलकाता महापंचायत: किसानों से टिकैत ने की अपील! भाजपा को वोट न देना.. बाकी चाहे जिसको भी दे दो

टिकैत ने बंगाल के किसानों से की भाजपा को वोट न देने की अपील

कृषि कानून के खिलाफ जारी किसानों के आंदोलन के बीच अब राकेश टिकैत अपने एलान के अनुसार बंगाल पहुंच गए हैं. टिकैत (Rakesh Tikait Appeal to Kolkata Farmers ने पहले कोलकाता में एक सभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने मोदी सरकार पर जमकर हम’ला बोला और जनता से भाजपा को वोट न करने की अपील की.

इसके बाद वह उस नंदीग्राम भी जाने वाले हैं जो बंगाल की सबसे हॉट और वीआईपी सीट है. जाहिर है इस सीट से ही ममता बनर्जी चुनावी मैदान में हैं और उनके सामने उन्ही की पार्टी छोड़कर भाजपा में शामिल हुए शुभेन्दु अधिकारी हैं.

देश को बचाना है तो इस सरकार को भगाना होगा

बंगाल किसान पंचायत टिकैत द्वारा आयोजित सभा में टिकैत ने आवाज बुलंद की. उन्होंने कहा- यह लोग अब बंगाल में आकर किसानों को खुशहाली देने की बात कह रहे हैं. जरा इनसे पूछना कि, दिल्ली में बैठे किसनों से क्यों नहीं बात कर रहे. टिकैत कहते हैं कि, लोगों के मन में सवाल होगा कि, आखिर हम यहां क्यों आये. तो बात यह है कि, जब हम दिल्ली में इतने समय से बैठे हैं सरकार हमारी सुन नहीं रही और अब बंगाल में आ गई है. इसलिए हमभी बंगाल चले आये इनसे यहीं बात करने।

यही नहीं टिकैत ने किसानों से अपील करते हुए कहा- आप लोग जागरूक हो जाएं यह सरकार लु’टेरों की सरकार है. बड़ी कंपनियों के हाथों बंधी है और नए कृषि कानून से किसानों का हाल बे’हाल होगा। इसलिए देश को बचाना है तो आप सभी को मिलकर इस सरकार को हटाना होगा।

बयान सुनने के लिए लिंक पर क्लिक करें: https://www.facebook.com/257589007755725/videos/472814190434789

भाजपा को तो वोट नहीं देना है, बाकि जिसको दे दो- टिकैत

टिकैत ने कहा- आप लोग भाजपा को वोट न देना बाकि मर्जी जिसको भी दे दो. हमारा यह आंदोलन चलता रहेगा जब तक सरकार कानून वापस नहीं ले लेती है. बता दें कि, अभी टिकैत नंदीग्राम में भी सभा करने वाले हैं. कुछ देर बाद वह वहां भी पहुंचेंगे।

जाहिर है बीते दिनों सयुंक्त किसान मोर्चा की तरफ से यह एलान किया गया था कि, किसान नेता अब बंगाल और अन्य राज्यों में भी जाएंगे। जहां चुनाव होने वाले हैं उन राज्यों में जाकर महापंचायत कर किसानों को जागरूक करेंगे। वहीं टिकैत के बंगाल पहुंचते ही उनके स्वागत में काफी लोग उमड़ आये और किसान संगठनों के झड़े लिए नारेबाजी करते नजर आ रहे हैं.

Related Posts

Leave a Comment