किसान नेता राकेश टिकैत को फोन पर मिली जान से मा’रने की धमकी, पुलिस को दी सूचना

राकेश टिकैत के नाम से फेक ट्विटर अकाउंट

कृषि कानून के विरोध में किसानों का आंदोलन जारी है, लाखों किसान दिल्ली से सटे बॉर्डर पर डटे हुए हैं. इसी बीच बीते दिन बॉर्डर से एक बेहद हैरान करने वाली खबर सामने आई. दरअसल किसान नेता राकेश टिकैत को फोन पर जान से मा’रने की धमकी मिली। इस बात की जानकारी खुद राकेश टिकैत ने दी और फिर वह पुलिस के पास पहुंचे।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत को एक अज्ञात व्यक्ति द्वारा जान से मा’रने की धमकी दी गई है. जिसके बाद अर्जुन बालियान (सहायक, राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत) ने थाना कौशाम्बी में इसकी तहरीर दी. बताया जा रहा है कि, पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है.

वहीं किसान नेता राकेश टिकैत ने मीडिया से बातचीत में बताया- बिहार से एक फोन आया था, जिसमें कहा गया हथि’यारों की जरूरत है क्या? बताओ कितने हथि’यार भिजवाने हैं, तुम्हें मा’रने का प्लान है. हालांकि, हमने गाजियाबाद के कप्तान को तहरीर दी है. पुलिस जांच कर रही है.

इस मामले के सामने आने के बाद हर कोई हैरान है तो वहीं कुछ लोग डरे हुए भी नजर आ रहे हैं. यह इस तरह का पहला मामला है जब किसी किसान नेता को धमकी भरे फोन कॉल आया हो. बहरहाल देखना होगा कि, आखिर बिहार के जिस व्यक्ति ने फोन किया उसकी क्या मंशा है और पुलिस उस तक कब पहुंचती है.

मालूम हो कि नए कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर धरने पर बैठे किसानों के आंदोलन का एक महीना पूरा हो गया है. वहीं किसान नेताओं की तरफ से ऐलान किया गया कि 30 दिसंबर को किसान ट्रैक्टर से सिंघु से लेकर टिकरी और शाहजहांपुर तक मार्च करेंगे. इसके साथ ही किसान पहले ही साफ कर चुके हैं कि, जब तक सरकार कानून वापस नहीं लेती है तब तक वह पीछे नहीं हटने वाले हैं. हालांकि अब एक और बार 29 तारिख को सरकार और किसान नेताओं की बात होनी है. अब देखन होगा कि, क्या इस वार्ता में कोई हल निकलता है या नहीं।

Related Posts

Leave a Comment