बड़ी खबर: अब ढाढ़ी रखने के लिए पुलिस कर्मियों को लेनी होगी इजाजत, योगी सरकार ने लिया बड़ा फैसला!

Police men to take permission for Beared in Uttar pradesh

उत्तर प्रदेश में अब हर पुलिस कर्मी को नए नियमों का प्लान करना होगा। इसमें दाढ़ी रखने से लेकर जूते पहनने और अन्य बातों का ध्यान रखना होगा। ताजा रिपोर्ट्स के मुताबिक, डीजीपी एचसी अवस्थी की ओर से पुलिसकर्मियों की वर्दी, जूते, बाल और दाढ़ी को लेकर निर्देश जारी किये गए हैं. निर्देश के मुताबिक, सिख धर्म के पुलिसकर्मियों के अलावा किसी को दाढ़ी रखने की इजाजत नहीं होगी. यही नहीं, सिख धर्म के अलावा सभी पुलिसकर्मियों को अपनी दाढ़ी क्लीन शेव रखनी होगी.

साथ ही कहा गया है कि धार्मिक आधार पर अस्थायी तौर पर बाल या फिर दाढ़ी रखने के लिए पुलिसकर्मियों को अपने अधिकारी से इजाजत लेनी होगी. वहीं इसे योगी सरकार का बड़ा फैसला माना जा रहा है.

इजाजत के बाद रख सकेंगे दाढ़ी

वहीं कुछ खास समय पर कर्मी इजाजत लेने के बाद दाढ़ी रख सकेंगे। हालांकि यह कुछ समय के लिए ही होगा। जाहिर है नवरात्रि, सावन, बच्चे के मूल में जन्म, परिवार में किसी की मृ’त्यु के बाद हिंदू धर्म में बाल या फिर दाढ़ी क’टवा’ने पर रोक रहती है. ऐसी परिस्थिति में पुलिसकर्मी अपने विभाग के प्रमुख से इजाजत लेकर बाल और दाढ़ी रख सकता है. इसके साथ ही वर्दी पहनते समय शर्ट के बटन से लेकर जूतों के रंग को लेकर भी निर्देश जारी किए गए हैं.

DIG order police officers for Beared and outfit

स्पोर्ट्स शू, सैंडल या फिर चप्पल पहनने पर भी सख़्त रोक के निर्देश दिए हैं. साथ ही डीजीपी एचसी अवस्थी (DGP HC Awasthi) ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि गलत वर्दी पहनने वालों को जरूर टोका जाए.

बिना इजाजत दाढ़ी रखने पर पुलिस कर्मी को किया गया था स’स्पें’ड

आपको बता दें कि, हाल ही में बागपत जनपद के रामाला थाने में तैनात सब इंस्पेक्टर इंतसार अली को बिना अनुमति लंबी दाढ़ी रखने के आरोप में पुलिस अधीक्षक ने निलं’बित करते हुए पुलिस लाइन भेज दिया था. बताया जा रहा है कि पुलिस अधीक्षक ने दरोगा इंतसार अली को तीन बार दाढ़ी क’टवा’ने की चे’ता’वनी दी थी. साथ ही उन्हें दाढ़ी रखने के लिए विभाग से अनुमति लेने को भी कहा था, लेकिन पिछले कई महीनों से दरोगा इंतसार अली आदेश की अनदेखी करते हुए दाढ़ी रख रहे थे.

इस मामले के सामने आने के बाद काफी हलचल और विवाद देखने को मिला था. अभी इसको लेकर बयानबाजी थमी ही नहीं थी कि, इसी बीच सरकार ने बड़ा फैसला ले लिया गया.

Related Posts

Leave a Comment