वो बड़े काम जिन्‍हें करने के लिए PM मोदी को छोड़ किसी ने नहीं दिखाई हिम्‍मत, जानें क्या क्या हैं..

PM Modi Bug Step towards Nation

आज प्रधानमंत्री का जन्मदिन है और इस खास मौके पर हर भारतीय खुसी मना रहा है और उनको शुभकामनायें दे रहा. तो वहीं मोदी सरकार के 6 साल बीत चुके हैं. 6 साल के अपने कार्यकाल में पीएम नरेंद्र मोदी (PM Modi Big Step) और उनकी सरकार ने उन कामों को कर दिखाया, जिन्‍हें लगभग असं’भव माना जा रहा था. कई ऐसे भी काम हुए जो देश में पहली बार हुए.

पीएम नरेंद्र मोदी के उठाए गए कदमों की सफलता-असफलता तो इतिहास तय करेगा. लेकिन इन कामों का बी’ड़ा उठाकर पीएम नरेंद्र मोदी (PM Modi Big Step towards Country) ने अपनी ऐसी छवि बना ली है, जिनके आगे वि’रो’धी दलों के नेता बौ’ने साबित होते हैं. पीएम मोदी ने अपनी छवि ऐसे नेता के रूप में ग’ढ़ी है, जो बड़े से बड़ा फैसला लेने में भी नहीं हि’च’कता. तो आज हम उनके द्वारा लिए गए बड़े फैसलों और काम पर नजर डालते हैं जो उनके अलावा पहले कोई नहीं करने का निर्णय नहीं ले सका.

अनुच्‍छेद 370 (Article 370) को हटाना : पिछले साल 5 सितंबर 2019 को देशवासी खुशी से गद’गद हो गए, जब गृह मंत्री अमित शाह ने संसद में घोषणा की कि जम्‍मू-कश्‍मीर से अनुच्‍छेद 370 को हटा लिया गया है. गृह मंत्री की इस घोषणा से देश भर में खुशी की लहर दौड़ गई. पाकिस्‍तान स्‍त’ब्‍ध रह गया. जम्‍मू-कश्‍मीर के नेता अवा’क रह गए. सभी प्रमुख नेताओं को या तो हि’रा’सत में ले लिया गया या फिर नज’रबं’द कर दिया गया. अब भी कई नेता नजर’बंद हैं. महीनों तक वहां इंटरनेट कनेक्‍टिविटी ख’त्‍म रखी गई, ताकि पाकिस्‍तान इंटरनेट का दु’रु’प’योग कर कोई खुरा’फा’त न फैला सके. अनुच्‍छेद 370 को हटाने के साथ ही मोदी सरकार ने राज्‍य को दो भा’गों में वि’भा’जित कर दोनों को केंद्र शासित प्रदेश भी बना दिया. लद्दाख को अलग केंद्र शासित राज्‍य बनाया गया.

राम मंदिर (Ram Temple) : पिछले साल 11 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्‍या में राम मंदिर के पक्ष में अपना फैसला सुनाया था. इस साल 5 अगस्‍त 2020 को पीएम नरेंद्र मोदी ने विप’क्ष की सारी आ’प’त्‍’तियों को धत्‍ता बताते हुए अयोध्‍या में राम मंदिर के शिलान्‍यास कार्यक्रम में हिस्‍सा लिया.

सर्जिकल स्ट्रा’इक (Surgical Str’ike) : उरी और पठानकोट आ’तं’की ह’म’लों के बाद पीएम नरेंद्र मोदी के निर्देश पर भारतीय सेना ने 29 सितंबर 2016 की रात पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में आ’तं’कवा’दी लांच पै’ड्स’ पर सर्जि’क’ल स्ट्रा’इ’क को अंजाम दिया. भारत में इससे पहले सर्जिकल स्ट्रा’इक सिर्फ सुना ही गया था, लेकिन जमीनी स्तर पर कभी इसे अमल में नहीं लाया गया था.

नोटबंदी (De-Monetisation) : पीएम नरेंद्र मोदी के शासनकाल का यह सबसे आ’श्‍च’र्यज’नक फैसला रहा. 8 नवंबर 2016 की रात राष्ट्र के नाम संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 500 और 1000 के नोट एक झ’ट’के में बंद कर दिए. पीएम नरेंद्र मोदी ने इसके पीछे कालेधन पर रोक लगाने, नक’ली नो’टों से छु’ट’का’रा पाने और आ’तं’कवा’द की कमर तो’ड़ना बताया. हालांकि कई रिपोर्ट्स में ऐसा बताया गया कि, इस कदम से कालेधन पर लगाम नहीं लग सकी और 99 फीसद से अधिक पैसा वापस फिर से सिस्‍टम में आ गया. वि’रो’धी इस बात को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी को घे’रते रहते हैं. 500 और 1000 रुपयों के नोट को बंद कर सरकार ने 2,000 के नोट भी बाजार में उतारे.

इजरायल दौरा (Israel Visit) : पीएम नरेंद्र मोदी के शासनकाल में विपक्ष ने जिस बात को सबसे अधिक मुद्दा बनाया, वो है उनका विदेश दौरा. अपने पहले कार्यकाल में पीएम नरेंद्र मोदी ने दुनिया का कोना-कोना छा’न मा’रा. हालांकि उनकी यात्रा के परिणाम अब सामने आ रहे हैं, जब पूरी दुनिया भारत की कू’ट’नी’ति के आगे नत’म’स्‍तक है. पीएम नरेंद्र मोदी इजरायल जाने वाले आजाद भारत के पहले पीएम भी बन गए. इससे पहले कोई भी प्रधानमंत्री इजरायल जाने की हिम्‍मत नहीं जुटा पाता था.

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day) : पीएम नरेंद्र मोदी ने भारतीय योग परंपरा को उस स्‍तर तक पहुंचा दिया, जिसके बारे में शायद इससे पहले कोई सोच पाया होगा. उनकी पहल पर 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाने लगा. 27 सितंबर, 2014 को पीएम मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में योग को अंतरराष्ट्रीय पहचान देने की बात रखी. 11 दिसंबर 2014 को यूएन में 177 सदस्य देशों ने 21 जून को योग दिवस मनाने पर मुहर लगा दी. मात्र 90 दिनों में पीएम मोदी के इस प्रस्ताव को पूर्ण बहुमत से संयुक्‍त राष्‍ट्र ने पारित कर दिया, जो यूएन में किसी दिवस प्रस्ताव के लिए सबसे कम समय का रिकॉर्ड है.

जन-धन योजना (Jan-Dhan Yojna) : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गरीब परिवार तक बैंकों को पहुंचाने के लिए 28 अगस्त 2014 को प्रधानमंत्री जन-धन योजना की शुरुआत की थी. योजना की खास बात यह रही कि पहले ही दिन 1.5 करोड़ बैंक खाते खोल लिए गए.

Related Posts

Leave a Comment