इस राज्य में अपरा’धियों को सुधारने के लिए तैनात किये जाएंगे किन्नर, पुलिस में होगी सीधी भर्ती..

अपराधियों को सुधारने के लिए तैनात होंगे किन्नर

अप’राध पर काबू करने की लिए राज्य सरकारें हर कोशिश करती हैं. लेकिन फिर भी रोजाना अलग-अलग शहरों से हैरान करने वाली खबरें सामने आती रहती हैं. ऐसे में अब एक राज्य में अपरा’ध और अपरा’धियों पर लगाम लगाने के लिए पुलिस में किन्नरों की भर्ती की जायेगी। सरकार ने अब अपरा’धियों की लंका लगाने और उनको सुधारने के लिए किन्नरों को जिम्मेदारी देने का फैसला लिया है.

यह कहीं और नहीं बल्कि नीतीश सरकार के राज्य में होने जा रहा है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, बिहार पुलिस में किन्नरों की सीधी बहाली होगी. इनके लिए पद भी रिजर्व रखे जाएंगे. नीतीश सरकार के फैसले के बाद अब पुलिस में इनकी बहाली का रास्ता साफ हो गया है. अब सिपाही और अवर निरीक्षक के पदों पर ट्रांसजेंडरों की सीधी नियुक्ति की जाएगी.

पास करनी होगी लिखित और शारीरिक परीक्षा

राज्य की नीतीश सरकार की स्वीकृति के बाद गृह विभाग ने शुक्रवार के जारी संकल्प पत्र के अनुसार बिहार पुलिस में अब ट्रांसजेंडर भी बहाल होंगे और सिपाही और दारोगा की सीधी नियुक्ति में इनके लिए पद आरक्षित रहेंगे. हालांकि वर्दी पाने के लिए इन्हें भी लिखित और शारीरिक परीक्षा पास करनी होगी.

संकल्प पत्र के अनुसार सिपाही और दारोगा के पद पर भविष्य में होने वाली नियुक्ति में ट्रांसजेंडर के लिए पद आरक्षित होंगे. सिपाही (Constable) संवर्ग के लिए नियुक्ति का अधिकार पुलिस अधीक्षक (SP) को होगा. जबकि, अवर निरीक्षक (SI) के लिए नियुक्ति का अधिकार पुलिस उपमहानिरीक्षक (DIG) स्तर के पदाधिकारी के पास होगा.

500 विज्ञापित पदों पर एक पद किन्‍नर समुदाय के लिए आरक्षित रहेगा

सिपाही एवं पुलिस अवर निरीक्षक संवर्ग में प्रत्येक 500 विज्ञापित पदों पर एक पद किन्‍नर समुदाय के लिए आरक्षित रहेगा. दोनों ही रैंक में प्रत्येक 500 पद के एक पद ट्रांसजेंडर के लिए होगा. हालांकि बाकी अभ्यर्थियों के समान ही इन्हें भी लिखित व शारीरिक परीक्षा देनी होगी. ट्रांसजेंडर के लिए शारीरिक दक्षता परीक्षा के मापदंड महिलाओं वाले होंगे.

Related Posts

Leave a Comment