शोर मचाने से सुर्खियां नहीं मिलती जनाब, कर्म ऐसे करो के खामोशी भी अख़बारों में छप जाए- सिद्धू

सिद्धू ने शायराना अंदाज में कही अपनी बात

गुरु यानि नवजोत सिद्धू अक्सर अपने अंदाज की वजह से चर्चा में रहते हैं. वह सोशल मीडिया पर भी काफी एक्टिव रहते हैं, अपने अलग अंदाज और शायराना लहजे में सब कुछ कह जाने वाले सिद्धू (Navjot Siddhu Shayarana andaj) सियासी उठाप’टक को भी अपने अंदाज में कह जाते हैं. हाल ही में उन्होंने सदन में चुनाव को लेकर टिप्पणी की थी. इस बीच अब उनका एक ट्वीट काफी चर्चा में बना हुआ है जिसमे वह शायराना अंदाज में कुछ कहते नजर आ रहे हैं.

दरअसल सिद्धू अक्सर अपनी बातों को या किसी पर टिप्पणी भी करते हैं तो शायराना अंदाज में ही करते हैं. इस बीच उन्होंने (Navjot Siddhu Shayarana andaj) एक ट्वीट कर तंज कसा है. हालांकि यह साफ नहीं कि, यह बात उन्होंने किसके लिए लिखी है.

सिद्धू ने ट्वीट कर लिखा- शोर मचाने से सुर्खियां नहीं मिलती जनाब, कर्म ऐसे करो के खामोशी भी अख़बारों में छप जाए’. अब सिद्धू का यह ट्वीट चर्चा में है और लोग भी इसपर अपनी-अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं.

कोई कह रहा है- वाह गुरु, तो कोई कमेंट कर रहा है ठोको ताली..जाहिर है गुरु सिद्धू कॉमेडी शो में ‘ठोको ताली’ शब्द का काफी इस्तेमाल करते थे और यह लोग भी बोलने लगे हैं.

बैलेट पेपर से चुनाव कराने की मांग भी कर चुके हैं सिद्धू

वहीं हाल ही में विधानसभा सत्र के दौरान सिद्धू ने EVM से चुनाव न कराये जान एक मुद्दा भी उठाया था। गुरु ने कहा कि, मतपत्र से मतदान कराना चाहिए. विधानसभा में मौजूदा बजट सत्र में पहली बार बोलते हुए प्रश्नकाल के दौरान सिद्धू ने कहा कि अमेरिका जैसे देशों में भी ‘ईवीएम’ के जरिए मतदान नहीं होता है. अमृतसर के विधायक ने कहा कि इन देशों का मानना है कि किसी भी तकनीक के साथ ‘‘छे’ड़छा’ड़” की जा सकती है लेकिन मतपत्र के साथ यह संभव नहीं है.

सदन में लोक इंसाफ पार्टी के विधायक सिमरजीत सिंह बैंस द्वारा मुद्दा उठाए जाने के बाद सिद्धू ने इस पर अपने विचार रखे. बैंस ने कहा कि संविधान के अनुच्छेद 328 के तहत राज्य विधानसभा के पास यह तय करने का अधिकार है कि वह ईवीएम के जरिए चुनाव करवाना चाहती है या मतपत्र के जरिए.

Related Posts

Leave a Comment