मोदी सरकार व भाजपा भरोसा करने लायक नहीं है, इनके बहकावे में न आएं- राकेश टिकैत के भाई नरेश टिकैत

मोदी सरकार पर बरसे राकेश टिकैत के भाई नरेश टिकैत

किसानों का आंदोलन 100 दिन से अधिक समय से जारी है. किसानों का गुस्सा भी अब भाजपा सरकार के खिलाफ बढ़ता जा रहा है. राकेश टिकैत से लेकर उनके भाई नरेश टिकैत और अन्य किसान नेता लगातार महपंचायत कर मोदी सरकार का विरोध जता रहे हैं. सोशल मीडिया पर भी लगातार लोग सरकार के खिलाफ बोल रहे हैं.

इस बीच अब नरेश टिकैत ने मोदी सरकार को भरोसा न करने वाली सरकार बताया और कहा कि, भाजपा पार्टी पर कभी भी विश्वास नहीं किया जा सकता है. कोई भी भविष्य में इनके बहकावे में न आये. दूसरी तरफ अब राकेश टिकैत ने तो भाजपा के खिलाफ मोर्चा सा खोल दिया है और वह चुनावी राज्यों में जाकर उनके खिलाफ बोल रहे हैं और पार्टी को वोट न करने तक की अपील कर रहे हैं.

मोदी सरकार पर बरसे राकेश टिकैत के भाई नरेश टिकैत

एक तरफ जहां राकेश टिकैत मोदी सरकार पर हम’लावर नजर आ रहे हैं. तो दूसरी तरफ उनके भाई नरेश टिकैत भी लगातार महापंचायत कर भाजपा सरकार के खिलाफ नाराजगी जता रहे हैं. यही नहीं नरेश भी अपने भाई की तरह सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं और एक के बाद एक ट्वीट कर सरकार को निशाने पर लेते हैं.

इस बीच उन्होंने दो ट्वीट कर मोदी सरकार और भाजपा के खिलाफ नाराजगी जाहिर की है. दरअसल नरेश टिकैत ने अपने एक ट्वीट में लिखा- यह सरकार व पार्टी विश्वाश के लायक नही है। भविष्य में इनके बहकावे में न आये”. इसके अलावा उन्होंने अगले ट्वीट में आंदोलन लंबा चलने को लेकर लिखा- आंदोलन लंबा चलेगा आंदोलन को दिनचर्या का हिस्सा बनाये किसान।

टिकैत ने भाजपा के खिलाफ खोला मोर्चा

टिकैत हाल ही में बंगाल में पहुंचे थे जहां उन्होंने खुलकर भाजपा के खिलाफ बोला। वह मोदी सरकार पर जमकर बरसे और किसानों से अपील की कि, कोई भी इस सरकार को वोट न दे. महापंचायत में टिकैत ने अपने संबोधन में कहा- देश को बचाना है तो इस सरकार को हटाना होगा। यानी वजह अब एक तरह से खुलकर सरकार के विरोध में उतर आये हैं.

आपको बता दें कि, इससे पहले मध्य प्रदेश के जबलपुर में राकेश टिकैत ने सोमवार को कहा कि केन्द्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन तब तक चलेगा जब तक ये कानून वापस नहीं लिए जाते और दिसंबर के बाद किसान आंदोलन में आगे की कार्रवाई के बारे में निर्णय लिया जायेगा.

अब संसद में बेचेंगे फसल- टिकैत

टिकैत ने हाल ही में एक महापंचायत में कहा कि न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) से कम में अपनी उपज नहीं बेचेंगे. उन्होंने कहा कि किसानों के इस आंदोलन में सत्तारुढ़ भाजपा के जो नेता शामिल होना चाहते हैं, उनका स्वागत है. उन्होंने आह्वान किया कि दिल्ली के पास चले रहे किसान आंदोलन की तरह किसान यहां भी आंदोलन करें।

Related Posts

Leave a Comment