गर्भवती पत्नी को परीक्षा दिलाने 1200 KM Activa चलाकर लाया पति, फिर अडानी ग्रुप ने इस तरह की मदद

Man Travel 1200 KM for Wife Exams

देश में इन दिनों कोरोना लॉक डाउन के कारण सभी ट्रांसपोर्ट बंद हैं. ट्रेन से लेकर बसों का संचालन सिमित हो रहा है. ऐसे में लोगों को आने जाने में परेशानी का सामना भी करना पड़ रहा है. इसी बीच एक काफी दिलचस्प खबर सामने आई है. एक युवक अपनी गर्भवती पत्नी को पेपर दिलाने के लिए हजारों किलोमीटर (Man travel 1200 Km with activa) दूर स्कूटी पर बैठकर ले गया.

यह कहानी है झारखंड के गोडा से अपनी गर्भवती पत्नी को स्कूटर पर बैठाकर 1200 किलोमीटर का सफर तय कर परीक्षा दिलाने (Man travel 1200 KM with activa For his Wife Exam) के लिए ग्वालियर आए धनंजय कुमार की. लेकिन यहां पहुंचने के बाद किसी तरह यह बात अडानी ग्रुप तक पहुंच गई और इसके बाद उनकी तरफ से इस दम्पति के लिए फ्लाइट टिकट का इंतजाम किया गया. धनंजय ने बताया, ‘‘अडानी ग्रुप के फाउंडेशन की ओर से हमें ग्वालियर से रांची की हवाई यात्रा का टिकट मिल गया है. यह टिकट 16 सितंबर का है. ग्वालियर से रांची के लिए सीधी उड़ान नहीं है, इसलिए हम दोनों हैदराबाद होकर रांची पहुंचेंगे. इसके बाद रांची से सड़क मार्ग से गोड्डा जाएंगे. इसका इंतजाम गोड्डा के जिलाधिकारी ने किया है.’’ उन्होंने बताया, ‘‘मेरे स्कूटर को भी भेजने का इंतजाम अडानी फाउंडेशन करेगा.’’

रिपोर्ट्स के मुताबिक, धनंजय आगे बताते हैं, ग्वालियर प्रशासन ने रहने का इंतजाम परीक्षा केन्द्र के पास कर दिया है. उन्होंने कहा कि गोड्डा में ही कुछ लोगों ने नौकरी की व्यवस्था करने की बात भी कही है. धनंजय ने ग्वालियर आने के लिए पत्नी का जेवर गिरवी रखकर 10,000 रुपए उधार लिए थे.

कोरोना के कारण ट्रेन और बस सहित यात्रा के साधन उपलब्ध नहीं होने के कारण झारखंड के गोड्डा से धनंजय अपनी गर्भवती पत्नी को स्कूटर पर बिठाकर डीएड (डिप्लोमा इन एजुकेशन) की परीक्षा दिलाने के लिए 30 अगस्त को ग्वालियर आए थे.

हालाँकि जानकारी के लिए आपको बता दें कि इस सफर के दौरान उन्होंने बारिश और खराब सड़कों का भी सामना किया और करीब 1200 किलोमीटर का सफर तय किया. यह मामला सामने आने के बाद ग्वालियर प्रशासन ने उनकी मदद की और अडानी फाउंडेशन ने उनके लिए हवाई मार्ग से वापस भेजने के लिए टिकट भी कराया।

Related Posts

Leave a Comment