2 करोड़ 55 लाख रूपये में बिका महात्मा गांधी का ये अनोखा चश्मा, जानें ऐसा क्या है खास

gandhi chashma sell at rs 2 crore

क्या आपने कभी ऐसा सोचा है कि, कोई चश्मा भी करोड़ों में बिक सकता है. शायद नहीं सोचा होगा. लेकिन आज हम आपको एक ऐसे ही चश्मे के बारे में बताने जा रहे हैं, जो 2 करोड़ रुपये से भी अधिक में बिका है. जी हां ब्रिटेन में हुई नीलामी में एक चश्मा करीब दो करोड़ 55 लाख रुपए में बिका हैं। ऐसा बताया जाता है कि इस चश्मे को महात्मा गांधी (Mahatma gandhi chashma) ने पहना था। जिसके बाद उन्होंने किसी को यह चश्मा तोहफे में दे दिया था।

चश्मे पर चढ़ी हुई है सोने की एक परत

दो करोड़ से भी अधिक में बिकने वाले इस चश्मे (Mahatma gandhi Chashma) के बारे में जानकार हर कोई हैरान है. आपको भी एक बार सुनकर जोर का झ’टका लगा होगा। आखिर ऐसा क्या खास है इस चश्मे में जो इसकी कीमत करीब 3 करोड़ (Gandhi chashma price is more than 2 crore) रुपये है. दरअसल इस चश्मे पर सोने की एक परत चढ़ी हुई है। जब इसे नीलामी के लिए रखा गया तो उम्मीद की जा रही थी कि 10,000 से 15,000 पौंड तक मिलने की उम्मीद थी। लेकिन ऑनलाइन नीलामी में बोली बढ़ती ही चली गई ।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, ईस्ट ब्रिस्टल ऑ’क्श’न्स के नीलामीकर्ता एंडी स्टोव ने शुक्रवार को बोली लगाने की प्रक्रिया का समापन करते हुए कहा, “अविश्वसनीय चीज का अविश्वसनीय दाम! जिन्होंने बोली लगाई उन सभी का धन्यवाद.” उन्होंने कहा, “इन चश्मों ने न केवल हमारे लिए नीलामी का कीर्तिमान बनाया है बल्कि यह ऐतिहासिक रूप से भी महत्वपूर्ण हैं. विक्रेता ने कहा था कि यह चीज दिलचस्प है. लेकिन इसका कोई मूल्य नहीं है और यदि यह बिकने लायक न हो तो इसका नि’स्ता’रण कर दें.” स्टोव ने कहा, “मुझे लगता है, नीलामी का मूल्य देखकर उसके आश्चर्य का ठि’का’ना नहीं रहा होगा। यह अद्भुत नीलामी थी। ऐसी जिसकी हम कल्पना करते हैं.”

दो करोड़ से अधिक में इस व्यक्ति ने ख़रीदा है चश्मा

जानकारी के लिए आपको बता दें कि चश्मे के नए मालिक दक्षिण पश्चिमी इंग्लैंड के साउथ ग्लूसेस्टरशायर के मंगोट्सफील्ड के एक वृद्ध हैं जो अपनी बेटी के साथ मिलकर 2,60,000 पौंड का भुगतान करेंगे। हालाकिं विक्रेता के परिवार में ये चश्मा पहले से था। इसी के साथ उनके पिता ने उन्हें बताया कि उनके एक रिश्तेदार को ही है तोहफे में मिला था। जब वह दक्षिण अफ्रीका में 1910 से 1930 के बीच ब्रिटिश पेट्रोलियम में काम किया करते थे।

Related Posts

Leave a Comment