नवजोत सिंह को नोटिस देने के लिए उनके घर के बाहर 4 दिनों से बैठे हैं बिहार पुलिस के 2 सब इंस्पेक्टर

बीते लोकसभा चुनाव के दौरान बिहार के कटिहार में नवजोत सिंह सिद्धू ने चुनाव सभा में एक समुदाय के आ’पत्ति’जनक टिप्पणी कर दी थी। आचार संहिता उल्लंघन के के’स में लिए सिद्धू को शामिल करने के लिए 18 जून से बिहार के दो सब इंस्पेक्टर उनके घर के बाहर रोजाना चार से पांच घंटे इंतजार करते हैं। अभी तक उनसे मिलने नहीं आया है।

जानकारी के लिए आपको बताते हैं कि बिहार पुलिस में सब इंस्पेक्टर जनार्दन शर्मा ने बताया है कि 18 तारीख तक लगातार इंतजार कर रहे हैं आम आदमी होता तो थाने आकर खुद साइन करता। हम खुद उनके लिए उनके दरवाजे पर आए हैं। बंद पत्र पर साइन कर दीजिए। हालांकि इनके पीए भी फोन नही उठाते हैं। जो हमारे वरिष्ठ अधिकारी का निर्देश होगा हम वही करेंगे।

क्रिकेटर से राजनेता बने नवजोत सिंह सिद्धू को नोटिस देने पहुंची बिहार पुलिस को वह चौथे दिन शनिवार को भी नहीं मिलने आए। चुनाव संबंधी एक मामले में उनके खिलाफ नोटिस देने के लिए बिहार पुलिस अमृतसर में मौजूद है। साल 2019 लोकसभा चुनावों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खि’लाफ मु’स्लिम मतदाताओं को एकजुट करने और मतदान करने के लिए प्रेरित करने के लिए भड़काऊ शब्दों का इस्तेमाल किया गया था।

जिसके कारण आचार संहिता का उल्लंघन हुआ था और उनके खिलाफ दर्ज किया गया था। पिछले साल अप्रैल में कटिहार जिले के बारसोई पुलिस स्टेशन में प्राथमिकी दर्ज की गई थी। सिद्धू उस समय कांग्रेस के तारिक अनवर के लिए प्रचार कर रहे थे। हालांकि आपको बता दें कि पुलिस टीम में सब इंस्पेक्टर जावेद अहमद और जनार्दन राम शामिल है। जो बुधवार से पंजाब शहर में सिद्धू के घर का दौरा कर रहे हैं।

लेकिन अभी तक उनको सिद्धू की कोई भी प्रतिक्रिया नहीं मिली है। पुलिस अधिकारी ने अमृतसर में मीडिया से कहा है कि हम यहां दस्तावेज देने और जमानत के लिए उनके हस्ताक्षर लेने आए हैं लेकिन उनकी सुरक्षा टीम हमें उनसे मिलने नहीं दे रही। अमृतसर के पुलिस आयुक्त सुखचैन सिंह गिल ने कहा है कि स्थानीय पुलिस से बिहार पुलिस ने अभी तक किसी भी तरीके का कोई संपर्क नहीं किया।

Leave a Comment