स्टूडियो पहंचते ही अर्नब ने CM उद्धव को फिर ललकारा, कहा- अभी तक माफ़ी नहीं मांगी अब देखिये मैं..

arnab challenge uddhav

अंतरिम जमानत मिलने के बाद अर्नब गोस्वामी तलोजा जेल से बाहर आ गए और इसके बाद व सीधा अपने ऑफिस पहुंचे। रिपब्लिक के स्टूडियों में पहुंचते ही टीम ने उनका जोरदार स्वागत किया। वहीं करना ने स्टूडियो पहुंचते ही एक बार फिर उद्धव ठाकरे को चुनौती दी और खरी खरी सुनाई। अर्नब (Arnab angry on Uddhav thackeray) ने कहा मुझे जेल में डालकर क्या मिला। आपने सत्ता का दुरोप्योग किया। साथ ही अर्नब ने ललकारते हुए कहा कि, हमें रोक सकते हो तो रोक लो. अब हम रिपब्लिक को हर भाषा में लांच करेंगे।

आपको बता दें कि, गोस्वामी रात लगभग साढ़े आठ बजे जेल से बाहर आए. जेल के बाहर जुटे लोगों का उन्होंने वाहन में से हाथ हिलाकर अभिवादन किया. उन्होंने कहा कि वह उच्चतम न्यायालय के आभारी हैं. गोस्वामी ने विजय चिह्न प्र’द’र्शित करते हुए कहा, ”यह भारत के लोगों की जीत है.”

रिपब्लिक को रोक लो उद्धव जी

अर्नब ने कहा अब हम रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क को इतना बड़ा कर देंगे कि, सब देखेंगे। यह मेरा वादा है, मैं आने वाले कुछ समय में रिपब्लिक को हर भाषा में लांच करूंगा। अर्नब (Arnab angry on Uddhav thackeray) ने उद्धव ठाकरे पर गुस्सा जाहिर करते हुए कहा कि, अपने सत्ता का दूरोपयोग कर मुझे जेल में डाला, लेकिन क्या फायदा मिला. आपने अपनी गलती के लिए अभी तक माफ़ी भी नहीं मांगी लेकिन जनता आपसे सवाल कर रही है.

अर्नब ने कहा यह देश के लोगों की जीत हुई और आप की हार हुई. आपको लगता है कि, जनता आपके साथ है, लेकिन यह आपका भ्रम है. जनता रिपब्लिक मीडिया के साथ है.

वीडियो देखने के लिए लिंक पर क्लिक करें:https://twitter.com/Republic_Bharat/status/1326580982863028225

जेल से बाहर आने के बाद लोगों ने किया जो’रदा’र स्वागत

आपको बता दें कि, शीर्ष अदालत ने उन्हें अंतरिम जमानत प्रदान करते हुए कहा कि यदि व्यक्तिगत स्वतंत्रता को कम’तर किया जाता है तो यह ”न्याय का उप’हास” होगा. बता दें क‍ि सुप्रीम कोर्ट से अंतरिम जमानत मिलने के कुछ घंटे बाद पत्रकार अर्नब गोस्वामी रायगढ़ जिला स्थित तलोजा जेल से रिहा कर दिए गए. उन्हें एक इंटीरियर डिजाइनर को क’थित तौर पर आ’त्मह’त्या के लिए उक’साने के वर्ष 2018 के एक मामले में गत चार नवंबर को गिरफ्तार किया गया था.

गोस्वामी रात लगभग साढ़े आठ बजे जेल से बाहर आए. जेल के बाहर जुटे लोगों का उन्होंने वाहन में से हाथ हिलाकर अभिवादन किया. उन्होंने कहा कि वह उच्चतम न्यायालय के आभारी हैं. गोस्वामी ने विजय चिह्न प्रद’र्शि’त करते हुए कहा,”यह भारत के लोगों की जीत है.” जेल के बाहर महिलायें पुरुष और बुजुर्ग काफी संख्या में मौजूद थे और उन्होंने अर्नब का जो’रदा’र स्वागत किया। इस दौरान लोग जय श्री राम के नारे भी लगाते नजर आये.

Related Posts

Leave a Comment