अखिलेश यादव किये गए नजरबंद! घर और परिसर के बाहर तैनात हुई भारी फ़ोर्स, जाने पूरा मामला

अखिलेश यादव किये गए नजरबंद

किसान आंदोलन को लेकर देश भर से राजनीतिक पार्टियां भी समर्थन में उतर आई हैं. इसी बीच अब लखनऊ से बड़ी खबर सामने आ रही है जहां अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav House arrest) को उनके घर अंदर ही नजरबंद कर दिया गया है. साथ ही उनके घर और ऑफिस के बाहर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है.

अखिलेश यादव किये गए नजरबंद

आपको बता दें कि, समाजवादी पायर्टी किसानों के समर्थन में मार्च निकालने वाली थी. इसी बीच कन्नौज में होने वाले किसान यात्रा (Kisan Yatra) से पहले ही पुलिस ने समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav House Arrest) को उनके निजी आवास पर नजरबंद कर दिया है. अखिलेश यादव के आवास और सपा ऑफिस के डेढ़ किलोमीटर के दायरे में पुलिस ने बैरिकेडिंग के साथ ही सभी रास्तों को सील कर दिया है. इस बीच सपा प्रमुख ने ट्वीट कर बीजेपी सरकार पर निशा’ना साधा और कार्यकर्ताओं से किसान यात्रा में शामिल होने की अपील की.

अखिलेश यादव ने ट्वीट कर लिखा, ‘क़दम-क़दम बढ़ाए जा, दंभ का सर झुकाए जाये जा, जंग है ज़मीन की, अपनी जान भी लगाए जा… किसान-यात्रा’ में शामिल हों!’ उधर, समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव एवं मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी का बड़ा बयान सामने आया है. उन्होंने कहा कि सरकार इतनी कमजोर और कायर हो गयी है कि अखिलेश यादव के कन्नौज जाने से ही डर गई. अखिलेश यादव का जो संवैधानिक अधिकार है, उसकी हत्या हो रही है. भारतीय जनता पार्टी लोकतांत्रिक अधिकारों को कुचलने में लगी है.

सपा दफ्तर से अखिलेश के घर तक कड़ी सुरक्षा

इतना ही नहीं समाजवादी पार्टी के दफ्तर से लेकर अखिलेश यादव के घर तक लखनऊ में बैरिकेडिंग की गई है. किसी को भी आने-दाने की इजाजत नहीं है. यहां पर पुलिस प्रदर्शन जैसी स्थिति के लिए तैयार है और वाटर कैनन लिए खड़ी है, इलाके को सील कर दिया गया है.

लखनऊ पुलिस ने समाजवादी पार्टी के MLC राजपाल कश्यप और आशू मलिक को हिरासत में लिया है. दोनों ही लखनऊ में समाजवादी पार्टी के दफ्तर जाने की कोशिश कर रहे थे, जिस इलाके को सील किया गया है. राजपाल कश्यप ने कहा कि पुलिस हमें क्यों रोक रही है, ये अघोषित आपातकाल है. आखिर अखिलेश यादव को क्यों रोका जा रहा है.

किसान आंदोलन को दबाने की कोशिश

इस मामले को लेकर सपा नेताओं में नाराजगी देखने को मिल रही है. समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता सुनील सिंह साजन ने कहा कि किसानों के आंदोलन को पूरे देश में बल के आधार पर दबाया जा रहा है. पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने किसानों के आंदोलन को समर्थन दिया है. इसी क्रम में 7 दिसंबर से अनवरत समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता किसानों के पक्ष में सड़क पर रहेंगे.

7 दिसंबर को अखिलेश यादव को कन्नौज जाना था, लेकिन उन्हें अलोकतांत्रिक तरीके से रोक कर हाउस अरेस्ट किया गया है. क्रांतिकारियों ने अंग्रेजों को भी देखा है. इस घमंड वाली सरकार को समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता चूर चूर कर देंगे. हमारे नेता किसानों के साथ हैं और हम किसानों के मुद्दे पर सदन से सड़क तक लड़ते रहेंगे.

Related Posts

Leave a Comment